---Advertisement---

8th Central Pay Commission: 8वें वेतन आयोग को लेकर सरकार ने कर दिया दूध का दूध पानी का पानी, आयोग को लेकर क्या पक रही खिचड़ी

8th Central Pay Commission

8th Central Pay Commission: सरकार हर दस साल में केंद्रीय कर्मचारियों की वेतन व्यवस्था में बदलाव के लिए वेतन आयोग का गठन करती है। इसकी सिफारिशों के आधार पर केंद्रीय कर्मचारियों का वेतन निर्धारित किया जाता है। अब तक 7वें वेतन आयोग का गठन हो चुका है. देश का पहला वेतन आयोग जनवरी 1946 में बना था और 7वां वेतन आयोग 28 फरवरी 2014 को बना था.

2016 में सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू की गईं. फिलहाल केंद्रीय कर्मचारी 8वें वेतन आयोग का इंतजार कर रहे हैं. एक बार फिर कहा गया कि फिलहाल सरकार का आठवां वेतन आयोग बनाने का कोई इरादा नहीं है।

राज्यसभा में वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि सरकार 8वें वेतन आयोग (8th Pay Commission) के प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रही है. इसके अलावा, उन्होंने कहा कि सरकार ने दस साल का इंतजार किए बिना केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन मेट्रिक्स को बदलने की सिफारिश पर भी विचार नहीं किया है।

सातवें वेतन आयोग (8th Pay Commission) की सिफारिशों के मुताबिक, केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन, भत्ते और पेंशन की समीक्षा के लिए अतिरिक्त वेतन आयोग की जरूरत नहीं होगी. हालाँकि, नई प्रणाली की समीक्षा और बदलाव की जरूरत है।

यहाँ जानिये कैसे बढेगा वेतन

संसद में सरकार ने कहा था कि वह कर्मचारियों के लिए प्रदर्शन आधारित वेतन प्रणाली पर काम कर रही है. अकरोयड के फॉर्मूले का उपयोग सभी भत्तों और वेतन की समीक्षा के लिए किया जा सकता है। इस बीच सरकार केंद्रीय कर्मचारियों पर महंगाई भत्ते का बोझ डाल सकती है.

सरकार साल में दो बार महंगाई भत्ता बढ़ाती है. पहला जनवरी से जून तक चलता है, जबकि दूसरा जुलाई से दिसंबर तक चलता है। फिलहाल यह 42 फीसदी है और इसमें चार फीसदी बढ़ोतरी की संभावना है.

ऐसे और भी ताजातरीन खबरों को पढने के लिए हमारे WhatsApp चैनल को ज्वाइन कर लीजिये.

Raju Yadav

मुझे इन्टरनेट जगत की तमाम खबरों को आप तक आपके भाषा में पहुँचाने में काफ़ी ख़ुशी मिलती है. आप सभी "व्यापार सीखो" के माध्यम से बिज़नेस आईडिया, फाइनेंस, ऑटो-मोबाइल्स, तकनीकी संबंधित खबरों को एकदम सरल भाषा में पढ़ सकते हैं। मुझे डिजिटल पत्रकारिता में 3 सालों का अनुभव है। संपर्क सूत्र- vyaparseekho@gmail.com

---Advertisement---

Leave a Comment

Join