---Advertisement---

यह औषधीय पौधे की खेती आपको फटाफट बना देगा लखपति, इस बिज़नेस की शुरुआत अभी करें

यह औषधीय पौधे की खेती आपको फटाफट बना देगा लखपति

यह औषधीय पौधे की खेती आपको फटाफट बना देगा लखपति: अगर आप अपने काम से थक चुके हैं। नया व्यवसाय शुरू करने के इच्छुक हैं। इसे हासिल करने के लिए आपको भीड़ से अलग दिखना होगा। खेती करके भी आप अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं। वैसे भी आज बहुत से लोग पारंपरिक खेती के बजाय नकदी फसलों की ओर रुख कर रहे हैं। किसान ऐसी फसलों से बहुत अधिक पैसा कमाते हैं।

यह औषधीय पौधे की खेती आपको फटाफट बना देगा लखपति
यह औषधीय पौधे की खेती आपको फटाफट बना देगा लखपति

ऐसे में आप भी नकदी फसल उगाने पर विचार कर सकते हैं। आज हम औषधीय गुणों वाले एक पौधे के बारे में चर्चा करेंगे। इसकी जड़, तना, पत्तियाँ और बीज सब बाजार में बिकते हैं। हम बात कर रहे हैं गुलखैरा की खेती की। इसकी फसल किसानों को मालामाल कर रही है।

गुलखैरा को किसी भी फसल के बीच में लगाना लाभ कमाने का एक शानदार तरीका है। गुलखैरा का सबसे आम उपयोग चिकित्सा में होता है। इस तरह किसान गुलखैरा के फूलों की खेती कर आसानी से बंपर फसल कमा सकते हैं।

इस फसल से कमाई का क्या जरिया है?

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो गुलखैरा 10 हजार रुपये प्रति क्विंटल तक बिक जाता है. एक बीघा गुलखैरा से पांच क्विंटल तक उत्पादन होने की संभावना होती है। एक बीघे में आसानी से 50,000-60,000 रुपये कमा सकते हैं। एक बार बोने के बाद गुलखैरा के बीजों को दोबारा बाजार से नहीं खरीदना पड़ता है। इन फसलों के बीजों की फिर से बुवाई संभव है। नवंबर वह महीना है जब गुलखैरा बोया जाता है। अप्रैल-मई का समय फसल तैयार होने का होता है। अप्रैल और मई के महीनों में पौधों की पत्तियाँ और तने सूखकर भूमि पर गिर जाते हैं। बाद में इसे जमा किया जाता है।

गुलखैरा का उपयोग कहाँ होता है?

गुलखेड़ा के फूल, पत्ते और तनों से यूनानी दवाएं भी बनाई जाती हैं। मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए भी इस फूल का इस्तेमाल दवाओं में किया जाता है। साथ ही इस फूल से बनी दवाइयां बुखार, खांसी और अन्य बीमारियों में भी कारगर होती हैं।

गुलखैरा की खेती सबसे ज्यादा कहाँ पर होती है?

पाकिस्तान और अफगानिस्तान ऐसे देश हैं जो इस पौधे की सबसे अधिक खेती करते हैं। भारतीय धीरे-धीरे इस पौधे की खेती भी कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में इसकी खेती होती है। कन्नौज, हरदोई और उन्नाव के किसान इसे उगाते हैं और मोटा मुनाफा कमाते हैं।

ये भी पढ़ सकते है?

यदि आप कम समय में ज्यादा मुनाफ़ा कमाना चाहते हैं तो गुलखैरा की खेती कर सकते हैं. आपको यह बिज़नेस मॉडल कैसा लगा हमें कमेंट में जरुर बताएं. ऐसे और भी बिज़नेस आईडिया के लिए आप हमारे WhatsApp ग्रुप को जरुर ज्वाइन करें! इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें!

Raju Yadav

मुझे इन्टरनेट जगत की तमाम खबरों को आप तक आपके भाषा में पहुँचाने में काफ़ी ख़ुशी मिलती है. आप सभी "व्यापार सीखो" के माध्यम से बिज़नेस आईडिया, फाइनेंस, ऑटो-मोबाइल्स, तकनीकी संबंधित खबरों को एकदम सरल भाषा में पढ़ सकते हैं। मुझे डिजिटल पत्रकारिता में 3 सालों का अनुभव है। संपर्क सूत्र- vyaparseekho@gmail.com

---Advertisement---

Leave a Comment

Join