---Advertisement---

Expensive Food at Airport: मैग्गी 193 रूपये तो डोसा 600 रूपये | एअरपोर्ट पर जब महंगा मिले भोजन तो क्या कर सकते हैं शिकायत?

Expensive Food at Airport: मैग्गी 193 रूपये तो डोसा 600 रूपये

Expensive Food at Airport: मैग्गी 193 रूपये तो डोसा 600 रूपये- एयरपोर्ट पर खाने-पीने की चीजें कितनी महंगी होती हैं यह देखकर कई लोगों के होश उड़ जाते हैं। यात्री इस बात को लेकर असमंजस में हैं कि जो समोसा, मैगी या चाय बाहर कम कीमत पर मिल जाती है, उसके लिए उन्हें एयरपोर्ट पर इतनी कीमत क्यों चुकानी पड़ती है? कई दिन पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें दिखाया गया था कि मुंबई एयरपोर्ट पर एक डोसे के लिए 600 रुपये चुकाने होंगे. इसके कैप्शन में तंज कसते हुए लिखा गया था कि सोना मुंबई एयरपोर्ट के डोसे से भी सस्ता है.

Expensive Food at Airport: मैग्गी 193 रूपये तो डोसा 600 रूपये
Expensive Food at Airport: मैग्गी 193 रूपये तो डोसा 600 रूपये

पहले ये खबर वायरल हुई थी कि एयरपोर्ट पर मैगी के लिए 193 रुपये चुकाने होंगे. सामान्य जगहों पर मैगी की एक प्लेट 30-40 रुपये में मिलना आम बात है. ऐसे में एक सवाल उठता है कि एयरपोर्ट पर खाना इतना महंगा क्यों है और क्या हम इसकी शिकायत कर सकते हैं? चलो पता करते हैं…

एअरपोर्ट परिसर पर किस आधार पर तय होते हैं दाम?

हवाई अड्डों पर होटल और रेस्तरां कुछ कारकों के आधार पर अपने मेनू मूल्य निर्धारित करते हैं। आउटलेट के स्थान का व्यावसायिक मूल्य क्या है? क्या वह व्यंजन किसी पेशेवर शेफ से आया था? जांचें कि क्या वह डिश उसकी सिग्नेचर डिश है, जिसके लिए ग्राहक से अधिक शुल्क लिया जाएगा। भोजन या पेय पदार्थ कैसे बनाया जाता है और किस प्रकार की सामग्री का उपयोग किया जाता है। आयातित वस्तुएँ भी उपलब्ध हो सकती हैं।

पैकिंग आइटम पर भी जीएसटी देना होगा। इसके अलावा, होटल या रेस्तरां भोजन और अन्य सेवाएं प्रदान करने के लिए सेवा शुल्क लेते हैं। हालाँकि, सेवा शुल्क अनिवार्य नहीं है। ये बातें आपको यह समझने में मदद करेंगी कि इन कारकों के आधार पर हवाईअड्डों जैसी जगहों पर खाद्य पदार्थ महंगे क्यों हो जाते हैं।

क्या ग्राहक सेवा केंद्र में कर सकते हैं शिकायत?

एयरपोर्ट पर किसी महंगे खाद्य पदार्थ की शिकायत करने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। सामान खरीदने से पहले उस मेनू को अवश्य जांच लें जिस पर कीमत लिखी हो। अगर आपका बिल सही है, प्रोडक्ट अच्छा है और सेवा में कोई कमी नहीं है तो आप उपभोक्ता फोरम में शिकायत नहीं कर सकते.

ऐसी स्थिति में जब आपकी सहमति के बिना अत्यधिक सेवा शुल्क लिया गया हो। खाद्य सामग्री घटिया गुणवत्ता की होनी चाहिए। मेनू कीमत और वास्तविक कीमत के बीच कीमत में अंतर था। ऐसी स्थिति में आप उपभोक्ता फोरम का दरवाजा खटखटा सकते हैं।

यह बहुत जरूरी जानकारी है इसे हर भारतीय के साथ जरुर शेयर करें. ऐसे और भी ताज़ा अपडेट को पाने के लिए हमारे WhatsApp चैनल को जरुर फॉलो करें!

Raju Yadav

मुझे इन्टरनेट जगत की तमाम खबरों को आप तक आपके भाषा में पहुँचाने में काफ़ी ख़ुशी मिलती है. आप सभी "व्यापार सीखो" के माध्यम से बिज़नेस आईडिया, फाइनेंस, ऑटो-मोबाइल्स, तकनीकी संबंधित खबरों को एकदम सरल भाषा में पढ़ सकते हैं। मुझे डिजिटल पत्रकारिता में 3 सालों का अनुभव है। संपर्क सूत्र- vyaparseekho@gmail.com

---Advertisement---

Leave a Comment

Join