Farming Business Idea: यह साधारण सब्जी की खेती आपको कम समय में कर देगी मालामाल, खेती करने का सही तरीका यहाँ जाने

Farming Business Idea: यह साधारण सब्जी की खेती आपको कम समय में कर देगी मालामाल, खेती करने का सही तरीका यहाँ जाने

Farming Business Idea: खेती से पैसे कमाने के लिए नई-नई तकनीकों और तरीकों का आजकल इस्तेमाल किया जा रहा है। फलों और सब्जियों की वैज्ञानिक खेती करने के लिए देश भर के किसान इन तरीकों को अपना रहे हैं। खासकर उत्तर प्रदेश उद्यानिकी फसलों की खेती का गढ़ बनता जा रहा है। यहां के किसान दांव विधि से सब्जियां उगाकर अच्छी-खासी कमाई कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले (Hordoi, Uttar Pradesh) में उगाई जाने वाली सब्जियों की इन दिनों खूब चर्चा हो रही है.

Farming Business Idea: यह साधारण सब्जी की खेती आपको कम समय में कर देगी मालामाल, खेती करने का सही तरीका यहाँ जाने
Farming Business Idea: यह साधारण सब्जी की खेती आपको कम समय में कर देगी मालामाल, खेती करने का सही तरीका यहाँ जाने

खासकर बात करें कुंदरु के बारे में तो एक साधारण सी सब्जी (Kundru Vegetable) होने का बावजूद बाजार में 5000 रुपये प्रति क्विंटल के भाव पर खरीदी जा रही है, जिससे जिले के किसानों को काफी मुनाफा हुआ है.

जी हाँ, हम बात कर रहे हैं एक साधारण-सी सब्जी कुंदरू की. एक दम साधारण सब्जी होने के बावजूद भी आज बाज़ार में 5 हजार रूपये प्रति क्विंटल के भाव से बिक रहा है. इसे बेचकर हरदोई जिले के किसान काफ़ी मुनाफ़ा कमा रहे हैं. आइये अब हम जानते हैं की आप कैसे इसकी खेती से इतना बढ़िया मुनाफ़ा कमा सकते हैं..

हरदोई जिले के किसान किस तकनीक से कर रहे खेती?

जाहिर है, कुंदरू बहुवर्षीय फसल है, एक बार बोने के बाद कई वर्षों तक उत्पादन देती रहती है। एक बार कटाई के बाद 10 से 15 दिनों में इसके फल फिर से उगने लगते हैं। कुंदरू की उत्‍पादकता और उत्‍पादन बढ़ाने के लिए मचान लगाकर इसकी खेती की जा सकती है। मचान को सामान्यता बिहार के क्षेत्रीय भासा में झामाडा भी कहते हैं.

उस पर कुंदरू की बेलें लोहे की जालियों, जालों या ढांचों का प्रयोग करके फैलाई जाती हैं, ऐसा करने से फसल में कीड़े और रोग लगने के ख़तरे कम हो जाते हैं.

पैसे के साथ-साथ पानी की भी होती है कम खपत

मचान विधि से कुंदरू उगाने के साथ-साथ ड्रिप इरिगेशन तकनीक यानी ड्रिप इरिगेशन विधि से पैसे और संसाधनों की बचत होती है। सिंचाई की इस किफायती और टिकाऊ पद्धति के तहत पानी सीधे पौधों की जड़ों तक पहुंचाया जाता है। इससे पौधे नष्ट नहीं होते और बेलों के रोग भी समाप्त हो जाते हैं।

नर्सरी में बीज बोकर इस विधि से पौधे तैयार किए जाते हैं। इसके बाद पौधों को मेड़ या क्यारियों में लगाया जाता है, ताकि खरपतवार न पनप सकें। ऐसा करने से किसान अपनी खेती की लागत कम कर सकते हैं और अपना मुनाफा बढ़ा सकते हैं।

मिट्टी और पोषण

भले ही कुंदरू को सभी प्रकार की मिट्टी में उगाया जा सकता है, लेकिन कार्बनिक पदार्थों से भरपूर बलुई दोमट मिट्टी अधिक उपजाऊ मानी जाती है।

  • नर्सरी और रोपाई की तैयारी में, खेतों की गहरी जुताई की जाती है और गाय के गोबर की खाद या वर्मीकम्पोस्ट खाद के साथ मिलाया जाता है।
  • मिट्टी में अच्छी उपज और नमी बनाए रखने के लिए सप्ताह में एक बार सिंचाई करें।
  • कुंदरू के पौधों को ठीक से लगाने और उनका प्रबंधन करने से अगले चार वर्षों तक बंपर उत्पादन की उम्मीद की जा सकती है।

कुंदरू के फसल से दोगुना होगा मुनाफ़ा

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के बहलौली गांव के रहने वाले कृषक कपिल अपनी मुख्य फसल के रूप में कुंदरू की खेती करते हैं (कुंदरू की खेती उत्तर प्रदेश में)। एक एकड़ में कुंदरू से 450 क्विंटल तक उत्पादन हो सकता है, जिसे 5000 रुपये प्रति क्विंटल (कुंदरू प्राइस इन एग्रीकल्चर मार्केट) के भाव से बेचा जा सकता है।

कुंदरू खुदरा बाजार में 100-80 रुपये प्रति किलो तक बिकता है। किसान इस तरह लाखों कमा सकते हैं। इसके अलावा, अतिरिक्त आय अर्जित करने के लिए कुंदरू को हल्दी, धनिया और अदरक के साथ सह-फसल के रूप में उगाया जा सकता है!

इसे भी पढ़िए: Evergreen Business Idea: इस छोटे से बिज़नेस से हर महीने कमाई 2 लाख, गाँव-शहर हर जगह बम्पर चलेगा बिज़नेस

आज खेती में मुनाफ़ा बहुत ज्यादा है, नयी तकनीक के अनुसार खेती करने पर पैदावार बढ़िया होता है. साथ हि सरकार भी खेती-किसानी के लिए सहायता राशी प्रदान कर रही है. यदि आप पुराने तरीकों से खेती करते आ रहे हैं तो एक बार आधुनिक तकनीक के अनुसार खेती कीजिये. मुनाफ़ा जरुर होगा.

आपको आज की यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट में जरुर लिखें और इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें! ऐसे और भी बिज़नेस आईडिया के लिए हमारे हमारे WhatsApp ग्रुप को ज्वाइन कर सकते हैं!

Raju Yadav

मुझे इन्टरनेट जगत की तमाम खबरों को आप तक आपके भाषा में पहुँचाने में काफ़ी ख़ुशी मिलती है. आप सभी "व्यापार सीखो" के माध्यम से बिज़नेस आईडिया, फाइनेंस, ऑटो-मोबाइल्स, तकनीकी संबंधित खबरों को एकदम सरल भाषा में पढ़ सकते हैं। मुझे डिजिटल पत्रकारिता में 3 सालों का अनुभव है। संपर्क सूत्र- vyaparseekho@gmail.com

1 thought on “Farming Business Idea: यह साधारण सब्जी की खेती आपको कम समय में कर देगी मालामाल, खेती करने का सही तरीका यहाँ जाने”

  1. Interested in farming of so called “Kundru” vegetable.
    Let me know the name in Marathi language. Is it cucumber?

    Reply

Leave a Comment

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now
Join