---Advertisement---

बागवानी मिशन योजना 2023: किसानों पर मेहरबान हुई इस राज्य की सरकार, किसानों को सरकार दे रही 6.50 लाख रूपये

बागवानी मिशन योजना 2023: किसानों को सरकार दे रही 6.50 लाख रूपये

बागवानी मिशन योजना 2023: बिहार देश के प्रमुख कृषि राज्यों में से एक है। बिहार राज्य पारंपरिक फसलों जैसे गेहूं, धान, मक्का, धान के साथ-साथ फलों और सब्जियों का उत्पादन करता है। परिणामस्वरूप, बिहार देश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बिहार में बागवानी की खेती के लिए सरकार किसानों को भारी सब्सिडी भी देती है। इसलिए, बिहार में अब बागवानी फसलों की खेती के तहत एक बड़ा क्षेत्र है। यहां के किसान पारंपरिक खेती के बजाय बागवानी पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं.

Subsidy on Solar Panel Micro Cooling Chamber

आज बिहार मखाना लीची, भिंडी और मशरूम के उत्पादन में देश का अग्रणी राज्य है। बिहार में पैदा होने वाली इन फसलों को कई देश निर्यात करते हैं. हालांकि, देश के अन्य राज्यों की तुलना में बिहार के किसान फलों और सब्जियों के उत्पादन से ज्यादा मुनाफा नहीं कमा पाते हैं. इसका मुख्य कारण किसानों का अपने उत्पाद कम कीमत पर बेचना है। बागवानी फसलों का जीवनकाल बहुत कम होता है। उन्हें सुरक्षित रखने के लिए कोई उचित संसाधन उपलब्ध नहीं हैं। किसानों को अब ऐसी समस्याओं से परेशान होने की जरूरत नहीं है.

बागवानी मिशन योजना 2023: किसानों को सरकार दे रही 6.50 लाख रूपये
बागवानी मिशन योजना 2023: किसानों को सरकार दे रही 6.50 लाख रूपये

बिहार सरकार अब उन्हें “कूलिंग चैंबर स्टोरेज” के लिए बंपर सब्सिडी दे रही है। यदि किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य नहीं मिलता है, तो वे उन्हें कोल्ड स्टोरेज में संग्रहीत कर सकते हैं और कीमतें बढ़ने पर उन्हें बाजार में बेच सकते हैं। आइए योजना के बारे में विस्तार से बात करें! जानकारी अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें!

सोलर पैनल माइक्रो कूलिंग चैंबर पर सब्सिडी का लाभ उठाएं

बिहार सरकार ने बागवानी फसलों की खेती करने वाले किसानों के लिए एक विशेष योजना शुरू की है। सोलर पैनल माइक्रो कूलिंग चैंबर की स्थापना पर किसानों को भारी सब्सिडी प्रदान की जा रही है। बिहार कृषि विभाग और बागवानी निदेशालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट करते हुए यह जानकारी दी. ट्वीट के मुताबिक, बिहार सरकार, कृषि विभाग और बागवानी निदेशालय, “मुख्यमंत्री बागवानी मिशन” योजना के तहत किसानों को सोलर पैनल माइक्रो कूलर चैंबर की स्थापना के लिए 50% की सब्सिडी दे रहा है।

इस योजना के तहत किसान अपने घरों के अंदर सोलर कूलिंग चैंबर बनवा सकेंगे। किसान इस कक्ष में फल, सब्जियां और अन्य कृषि उत्पादों का भंडारण कर सकते हैं। इससे उनके उत्पाद लंबे समय तक खराब नहीं होंगे और उनकी गुणवत्ता भी बनी रहेगी। चैंबर में रखे कृषि उत्पादों को अच्छे बाजार भाव पर बेचकर किसान अपनी आय पहले की तुलना में बढ़ा सकेंगे।

इसे भी पढ़िए: किसान विकास पत्र स्कीम अपडेट: इस योजना में बढ़ गया ब्याज दर, अब किसान भाइयों का पैसा जल्दी होगा दोगुना

किसानों को चैंबर पर मिलने वाली कितनी है सब्सिडी राशि

बिहार में पारंपरिक खेती की जगह बागवानी फसलें किसानों को अच्छा मुनाफा दिला रही हैं. बिहार में फलों एवं सब्जियों की बागवानी में आधुनिक तकनीकों का प्रयोग करते हुए बिहार सरकार, कृषि विभाग एवं उद्यान निदेशालय के प्रावधानों के अनुरूप राष्ट्रीय कृषि विकास मिशन योजना के तहत ड्रिप सिंचाई, पौधों की विभिन्न प्रकार की योजनाएं लागू की गई हैं। , बीज, और कृषि उपकरण।

भंडारण और परिवहन रेफ्रिजरेटर जैसी अन्य वस्तुओं के लिए भी सब्सिडी प्रदान की जाती है। बिहार सरकार ने मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के तहत सोलर पैनल माइक्रो कूल चैंबर बनाने की इकाई लागत 13 लाख रुपये निर्धारित की है. सरकार किसानों को 50 फीसदी तक सब्सिडी दे रही है. सोलर पैनल माइक्रो कूलिंग चैंबर के लिए किसानों को 6.50 लाख रुपये की सब्सिडी मिलेगी.

सोलर पैनल कूलिंग चैंबर क्या है?

सोलर पैनल माइक्रो कूलिंग चैंबर एक प्रकार का रेफ्रिजरेटर है। सौर पैनल इस प्रणाली को शक्ति प्रदान करते हैं। इस सोलर पैनल रेफ्रिजरेटर का उपयोग करके किसान मशरूम, टमाटर, परवल, शिमला मिर्च, आम, लीची-अमरूद और केला सहित अन्य नकदी फसलों को स्टोर करके लंबे समय तक सुरक्षित और ताजा रख सकते हैं।

यह भी पढ़ें: पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में मिल रहा तगड़ा ब्याज, उठाएं फायदा

कौन-कौन उठा सकता है इस योजना का लाभ

बिहार सरकार, कृषि विभाग और बागवानी निदेशालय ने ट्विटर पर घोषणा की कि वह किसानों को सोलर पैनल माइक्रो कूल चैंबर स्थापित करने के लिए सब्सिडी दे रही है। अगर आप बागवानी फसलों की खेती करते हैं तो आप मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के तहत सोलर पैनल माइक्रो कूल चैंपर्स पर सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त, यह योजना उद्यमी किसानों, किसान समूहों (एफपीओ), किसान सहकारी समितियों (एफपीसी), गैर-सरकारी संगठनों, स्वैच्छिक संगठनों और व्यापारी किसानों को सब्सिडी प्रदान करती है। सब्सिडी का लाभ लेने के इच्छुक किसान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए किसान भाई अपने जिले के कृषि या उद्यान कार्यालय से भी संपर्क कर सकते हैं। वाहन आपको अपने क्षेत्रीय भाषा में बेहतर जानकारी प्रदान कर दि जाएगी।

सब्सिडी का लाभ उठाने के लिए कैसे करें आवेदन

बिहार सरकार, कृषि विभाग और बागवानी निदेशालय मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के तहत यह सब्सिडी दे रहे हैं। किसान बिहार सरकार, कृषि विभाग और उद्यान निदेशालय की आधिकारिक वेबसाइट “horticulture-bihar-gov-in” पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।

बिहार सरकार की बागवानी वेबसाइट पर इच्छुक किसानों को मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना का विकल्प चुनना होगा। उस विकल्प पर क्लिक करें जिसके लिए आप आवेदन करना चाहते हैं। फिर आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा. जमा करने के लिए आवेदन पत्र पूरी तरह और सही ढंग से भरा जाना चाहिए।

आपको आज की यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स में जरुर लिखें और इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें. ऐसे और भी जानकारी को पाने के लिए हमारे WhatsApp ग्रुप को ज्वाइन कर सकते हैं!

Related Posts

Raju Yadav

मुझे इन्टरनेट जगत की तमाम खबरों को आप तक आपके भाषा में पहुँचाने में काफ़ी ख़ुशी मिलती है. आप सभी "व्यापार सीखो" के माध्यम से बिज़नेस आईडिया, फाइनेंस, ऑटो-मोबाइल्स, तकनीकी संबंधित खबरों को एकदम सरल भाषा में पढ़ सकते हैं। मुझे डिजिटल पत्रकारिता में 3 सालों का अनुभव है। संपर्क सूत्र- vyaparseekho@gmail.com

---Advertisement---

Leave a Comment

Join