---Advertisement---

लाखों रूपये महिना कमाने के लिए शुरू करें जैविक खेती, भारत में जैविक खेती का व्यापार खूब चलेगा

लाखों रूपये महिना कमाने के लिए शुरू करें जैविक खेती, भारत में जैविक खेती का व्यापार खूब चलेगा

लाखों रूपये महिना कमाने के लिए शुरू करें जैविक खेती: भारत में कृषि प्रमुख उद्योग है। भारत की लगभग 58% आबादी कृषि पर निर्भर है, और देश की राष्ट्रीय आय का लगभग 20% कृषि से आता है। ऐसे में हमारे लिए जरूरी हो जाता है कि हम कृषि और किसानों को इम्प्रूव करें।

साथ ही हमें यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि फसलों के उपभोग से लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े। इन सभी समस्याओं का सरल समाधान जैविक खेती है। आज इस आर्टिकल में हम जैविक खेती के बिज़नेस के बारे में चर्चा करेंगे.

जैविक खेती से हमारा क्या अभिप्राय है?

लाखों रूपये महिना कमाने के लिए शुरू करें जैविक खेती, भारत में जैविक खेती का व्यापार खूब चलेगा
लाखों रूपये महिना कमाने के लिए शुरू करें जैविक खेती, भारत में जैविक खेती का व्यापार खूब चलेगा

व्यवसाय शुरू करने से पहले यह जानना जरूरी है कि जैविक खेती क्या है। अधिकांश किसान अच्छी फसल उगाने के लिए रासायनिक उर्वरकों का उपयोग करते हैं, जो मिट्टी के साथ-साथ उनका उपभोग करने वाले लोगों को भी नुकसान पहुँचाते हैं।

जैविक खाद में कोई रसायन नहीं होता है। इसकी जगह गाय का गोबर, कम्पोस्ट, फसल अवशेष, सब्जियों और फलों के छिलके, जीवाणु खाद आदि का प्रयोग किया जाता है।

जैविक खेती की शुरुआत कैसे करें?

यदि आप अभी तक रासायनिक खेती कर रहे हैं और जैविक खेती करना चाहते हैं, तो आपको 3 साल तक बिना किसी रासायनिक खाद के जैविक खाद का उपयोग करना होगा। आप इस संबंध में विभिन्न तरीकों का उपयोग कर सकते हैं, जैसे गोमूत्र, गाय के गोबर, या वर्मी कम्पोस्ट का छिड़काव। इसके लिए आपको मिट्टी की जांच भी करानी होगी।

आपके लिए पिछला पोस्ट: पढाई छोड़कर शुरू किया बिज़नेस कमाता है 25 लाख सालाना, कोई बड़ा नही खेती-बारी का करता है काम

मिट्टी का जाँच कैसे करें?

मृदा परीक्षण के परिणाम स्वरूप मिट्टी में नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटाश, जिंक और बोरॉन सहित 17 तत्वों का पता चलता है। खेत में 6 अलग-अलग जगहों पर कटाई के बाद मिट्टी का V आकार का 6 इंच गहरा गड्ढा खोदें। मिट्टी को अच्छी तरह से मिलाने के बाद नजदीकी मिट्टी परीक्षण केंद्र पर जांच कराएं।

ऐसा करने से आप यह पहचान सकेंगे कि आपके खेत में किन तत्वों की कमी और अधिकता है। इस जानकारी के आधार पर मृदा परीक्षण केंद्र के विशेषज्ञ आपको सलाह देंगे कि कितना उर्वरक लगाना है। अपनी मिट्टी के अनुसार उर्वरकों का चयन कर आप अच्छी उपज प्राप्त कर सकते हैं।

अब हम आगे आपको बताएँगे की जैविक खाद कितने प्रकार के होते है?

गोबर की जैविक खाद

खेती के अलावा, अधिकांश किसान पशुपालन में भी संलग्न हैं। अगर आप खेती के साथ पशुपालन भी करते हैं तो आपको एक गड्ढे को पानी से भर देना चाहिए। गाय के गोबर को सड़ने में 4 से 5 महीने का समय लगता है। अगली फसल बोने से पहले आप इस खाद को खेत में छिड़क दें।

फसलों की जैविक खाद

ज्यादातर मामलों में फसल काटने के बाद खेतों में बचे फसल अवशेषों को जला दिया जाता है, जिसे पराली कहा जाता है। फसल की कटाई के बाद बचे अवशेषों को खेत में ही छोड़ देना चाहिए। फिर खेत की जुताई करें, उसमें सिंचाई करें और उस पर जैविक यूरिया का छिड़काव करें।

वर्मी कम्पोस्ट

कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए घर के कचरे और फसल अवशेषों को इकट्ठा करके पानी से भरे छायादार गड्ढे में डाल दें। इसे 4 महीने के लिए छोड़ दें और यह कम्पोस्ट में बदल जाएगा। पानी के अभाव में केंचुए इसे खाकर मल के रूप में बाहर निकाल देंगे, जिसका उपयोग खाद के रूप में किया जा सकता है। इस खाद में नाइट्रोजन, गंधक और पोटाश तीनों ही प्रचुर मात्रा में होते हैं।

जैविक खाद के बिज़नेस से लाखों कमाएं

आजकल जैविक उत्पादों की बहुत मांग है, यही वजह है कि कई लोग अपने घरों में जैविक सब्जियां गमलों में उगाते हैं। हमारे पास आपके इस सवाल का जवाब है कि आप अपनी जैविक फसल कहां बेच सकते हैं। आप अपनी जैविक फसल को कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के पोर्टल https://www.jaivikkheti.in/ के माध्यम से बेच सकते हैं।

आज कई ऐसे स्टार्टअप भी हैं जो जैविक उत्पाद खरीदते हैं और उन्हें सीधे ग्राहकों को बेचते हैं। आप अपने क्षेत्र में ऐसे स्टार्टअप के बारे में पता कर सकते हैं और उन्हें बेचने के लिए संपर्क कर सकते हैं। आपके आस-पड़ोस के लोगों को सीधे बेचना भी संभव है।

भारत का सिक्किम बन चूका है विश्व का पहला जैविक राज्य

2016 में, सिक्किम न केवल भारत में, बल्कि दुनिया का पहला पूर्ण जैविक राज्य बन गया। इस क्षेत्र में सिक्किम ने कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार जीते हैं। आज भारत के शहरों में अधिकांश लोग अपने स्वास्थ्य के लिए जैविक सब्जियों और फलों को प्राथमिकता देते हैं।

जैविक उत्पादों की बढ़ती मांग के फलस्वरूप आप जैविक खेती अपनाकर अधिक मुनाफा कमा सकते हैं। रसायनों से दूर रहकर जैविक खेती करने से न केवल हमें अच्छा मुनाफा कमाने में मदद मिलेगी, बल्कि हमारी मिट्टी की भी रक्षा होगी।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट सेक्शन में जरुर लिखें. इस बिज़नेस आईडिया को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें ताकि वे भी इस बिज़नेस आईडिया के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें!

Related Posts

Raju Yadav

मुझे इन्टरनेट जगत की तमाम खबरों को आप तक आपके भाषा में पहुँचाने में काफ़ी ख़ुशी मिलती है. आप सभी "व्यापार सीखो" के माध्यम से बिज़नेस आईडिया, फाइनेंस, ऑटो-मोबाइल्स, तकनीकी संबंधित खबरों को एकदम सरल भाषा में पढ़ सकते हैं। मुझे डिजिटल पत्रकारिता में 3 सालों का अनुभव है। संपर्क सूत्र- vyaparseekho@gmail.com

---Advertisement---

Leave a Comment

Join