धनतेरस पर कितना झाड़ू खरीदना माना जाता है शुभ?

तिरहुत विद्वत परिषद के संयोजक आध्यात्मिक गुरु कमलापति त्रिपाठी प्रमोद के अनुसार धनतेरस धन और समृद्धि का उत्सव है। 

हिंदू पौराणिक कथाओं में, देवी लक्ष्मी धन, समृद्धि और सौभाग्य का प्रतिनिधित्व करती हैं। इसके अतिरिक्त, भगवान धन्वंतरि आयुर्वेद के देवता हैं और स्वास्थ्य और उपचार से जुड़े हैं।  

धनतेरस पर आर्थिक समृद्धि और अच्छे स्वास्थ्य के लिए उनका आशीर्वाद लें। प्रेम और समृद्धि के संकेत के रूप में, धनतेरस पर उपहारों का आदान-प्रदान किया जाता है। 

धनतेरस पूजन का शुभ मुहूर्त क्या है? – सिंह लग्न 12:20 से 02:34 रात्रि – वृष लग्न 05:52 से 7:48 संध्या – कुंभ लग्न 01:16 से 2:45 दोपहर

इस दिन आप आभूषण, सोने या चांदी के सिक्के, तांबे, पीतल के बर्तन, नई कार, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और घरेलू सामान खरीद सकते हैं।  

धनतेरस पर सम संख्या (2, 4, 6, 8) की झाड़ू खरीदना शुभ माना जाता है।  

इस दिन मां लक्ष्मी और धन्वंतरि जी की पूजा में गेहूं के आटे का हलवा, धनिया और गुड़ का पाउडर और बूंदी के लड्डू का भोग लगाया जाता है. 

अधिक पढने के लिए यहाँ क्लिक करें!