---Advertisement---

आय, जाति, निवास का प्रमाणपत्र बनवाने को लेकर हैं परेशान, इस वेबसाइट पर जाइये सब काम हो जाएगा

आय, जाति, निवास का प्रमाणपत्र बनवाने को लेकर हैं परेशान, इस वेबसाइट पर जाइये सब काम हो जाएगा

आय, जाति, निवास का प्रमाणपत्र बनवाने को लेकर हैं परेशान: इस वेबसाइट के माध्यम से आय, जाति, निवास, जन्म, मृत्यु और सरकारी विभागों के खिलाफ शिकायत सहित कई प्रकार के प्रमाण पत्र बनाना संभव है।

प्रत्येक राज्य सरकार ने नागरिक सेवाओं के लिए एक ई-डिस्ट्रिक्ट वेबसाइट (ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल) बनाई है। इन साइटों पर लोग प्रमाणपत्र प्राप्त कर सकते हैं और सरकारी विभागों (सरकारी सेवा पोर्टल) के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, आप सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस), पेंशन, खतौनी, राजस्व न्यायालय के मामले, रोजगार केंद्रों में पंजीकरण, हथियार लाइसेंस, स्वास्थ्य और शिक्षा से संबंधित सरकारी सेवाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आय, जाति, निवास का प्रमाणपत्र बनवाने को लेकर हैं परेशान, इस वेबसाइट पर जाइये सब काम हो जाएगा
आय, जाति, निवास का प्रमाणपत्र बनवाने को लेकर हैं परेशान, इस वेबसाइट पर जाइये सब काम हो जाएगा

इनमें से अधिकांश सुविधाएं निःशुल्क हैं। हालाँकि, कुछ सुविधाओं के लिए मामूली शुल्क की आवश्यकता हो सकती है। राज्य के ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर उपलब्ध कुछ सुविधाएं निम्नलिखित हैं:

सर्टिफिकेटः अधिकांश राज्यों में ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल हैं जहां लोग निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र, मृत्यु प्रमाण पत्र और जाति प्रमाण पत्र जैसे प्रमाणपत्रों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

जमीन का हिसाब-किताब: ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर जाकर आप अपनी जमीन की सारी जानकारी देख सकते हैं। उदाहरण के लिए, आपसे पहले उस जमीन को किसने खरीदा और बेचा है? ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल खसरा, खतौनी, भूलेख और अन्य प्रकार की भूमि की जानकारी भी प्रदान करता है।

रेवेन्यू कोर्ट केस: यदि आपके खिलाफ कोई राजस्व संबंधी मामला लंबित है तो आप पोर्टल पर उससे संबंधित सभी जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

एप्लिकेशन स्टेटस:  पोर्टल आवेदकों को अपने आवेदन की स्थिति की जांच करने की भी अनुमति देता है।

शिकायत खिड़की:  सरकारी सेवाओं के बारे में शिकायत करने के अलावा, नागरिक शिकायत करने के लिए पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं। अपनी शिकायत की स्थिति भी जांचें।

ऑनलाइन पेमेंटः जब आप प्रमाणपत्र के लिए आवेदन करते हैं तो पोर्टल पर आप भूमि रिकॉर्ड, शुल्क आदि का भुगतान भी कर सकते हैं।

जिला प्रशासन: ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल जिला प्रशासन से संबंधित अधिकारियों और विभागों के लिए संपर्क जानकारी भी प्रदान करेगा।

कुछ राज्यों के ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल के लिंक निचे दिए गए हैं:

राज्य का नामजरुरी लिंक
केरलe D i s t r i c t Kerala
महाराष्ट्रMaharashtra | District Portal (s3waas.gov.in)
राजस्थानhttps://rajasthan.gov.in/
मध्य प्रदेशमध्यप्रदेश लोक सेवा गारंटी पोर्टल (mpedistrict.gov.in)
दिल्लीhttps://edistrict.delhigovt.nic.in/in/en/Error/OperationalAlert.html
हिमाचल प्रदेशHimachal E-District (hp.gov.in)
उत्तराखंडhttps://edistrict.uk.gov.in
उत्तर प्रदेशई-डिस्ट्रिक्ट | होम (up.gov.in)
बिहारhttps://bihar.s3waas.gov.in/
झारखंडhttps://jharsewa.jharkhand.gov.in/

जानिए किस काम के कितने पैसे लगेंगे?

इसकी किसी भी सेवा तक पहुंचने के लिए आपको ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण करने के बाद, आप अपना उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड और सुरक्षा कोड दर्ज करके लॉग इन कर सकते हैं।

जानिए किस काम के कितने पैसे लगेंगे?
जानिए किस काम के कितने पैसे लगेंगे?

अगर आप नए यूजर हैं तो खुद को रजिस्टर करना जरूरी है। पंजीकरण के लिए नाम, जन्म तिथि, पता, पिन कोड, जिला, फोन नंबर, मेल आईडी और कैप्चा कोड प्रदान करना आवश्यक है। इस तथ्य के बावजूद कि अधिकांश सुविधाएं निःशुल्क हैं। हालाँकि, जिन सेवाओं के लिए शुल्क लिया जा रहा है, वे बहुत कम हैं। उदाहरण के लिए, उत्तर प्रदेश में ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल के लिए शुल्कों की एक सूची यहां दी गई है।

आपके लिए, इसे भी पढ़िए: किसान विकास पत्र स्कीम अपडेट: इस योजना में बढ़ गया ब्याज दर, अब किसान भाइयों का पैसा जल्दी होगा दोगुना

Related Posts

Raju Yadav

मुझे इन्टरनेट जगत की तमाम खबरों को आप तक आपके भाषा में पहुँचाने में काफ़ी ख़ुशी मिलती है. आप सभी "व्यापार सीखो" के माध्यम से बिज़नेस आईडिया, फाइनेंस, ऑटो-मोबाइल्स, तकनीकी संबंधित खबरों को एकदम सरल भाषा में पढ़ सकते हैं। मुझे डिजिटल पत्रकारिता में 3 सालों का अनुभव है। संपर्क सूत्र- vyaparseekho@gmail.com

---Advertisement---

Leave a Comment

Join